चित्तौड़गढ़। जिले के लोगों के लिए एक खुश खबर है। लार्ज स्केल पर निवेश आने से विकास में चार-चाँद लगने और हज़ारों की संख्या में रोजगार का सृजन होने की उम्मीद है। दरअसल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर “इन्वेस्टमेंट राजस्थान” के तहत जिले में शुक्रवार 24 दिसंबर को प्रात: 10:30 बजे होटल अमृत मंथन में “इन्वेस्ट चित्तौड़गढ़” समिट का आयोजन होने जा रहा है। इस दौरान करीब 600 करोड़ रूपए के एमओयु (मेमोरेंडम ऑफ़ अंडरस्टेंडिंग) और एलओआई (लेटर ऑफ़ इंटेंट) होने की सम्भावना है। जिला कलक्टर  ताराचंद मीणा ने बुधवार को समिति कक्ष में आयोजित हुई प्रेस वार्ता में बताया कि बड़े स्तर पर जिले में निवेश आने से पर्यटन, टेक्सटाइल, टेक्निकल टेक्सटाइल, खनिज क्षेत्र, स्टोन सेक्टर, केमिकल एवं फर्टिलाइजर, स्वास्थ्य सहित विभिन्न क्षेत्र में नए उद्यम स्थापित होंगे, सुविधाओं में विस्तार होगा और इसके साथ-साथ हजारों लोगों को रोज़गार भी प्राप्त हो सकेगा।

जिला उद्योग केंद्र महाप्रबंधक  सहीराम विश्नोई ने बताया कि इन्वेस्टमेंट राजस्थान आउटरिच कार्यक्रम के तहत अब तक देश के विभिन्न मेट्रो शहरों में आयोजित रोड शो में जिले में निवेश के लिए डालमिया सीमेंट, न्यू विस्टा कोर्पोरेशन एवं वेदान्ता समूह द्वारा लगभग 7500 करोड़ रूपए निवेश करके सीमेंट और जिंक के क्षेत्र में नवीन प्लांट स्थापित करने के एमओयु और एलओआई ओन स्पॉट बीते दो महीनों में पहले ही किये जा चुके हैं।

दरअसल जिले में कई ऐसे क्षेत्र हैं। जहां निवेश कर उद्योग स्थापित करने की व्यापक संभावनाएं हैं। इस समिट के संपन्न होने से जिले के चंहुमुखी विकास में काफी योगदान मिलेगा।

क्या है इन्वेस्टमेंट राजस्थान समिट?

राज्य सरकार की बजट घोषणा वर्ष 2021-22 के अनुसार राज्य में नवीन निवेश के लिए आकर्षक वातावरण तैयार करने और निवेशकों के लिए इज-ऑफ़-डूइंग बिजनेस को बढावा देने तथा रोज़गार के नए अवसर सृजत करने के उद्देश्य से इन्वेस्ट राजस्थान समिट का आयोजन किया जा रहा है। बड़े स्तर पर निवेश आने से प्रदेश के चंहुमुखी विकास में न सिर्फ योगदान मिलेगा, बल्कि रोजगार सृजन भी होगा.

क्यों ख़ास है इन्वेस्टमेंट राजस्थान?

कोरोना के बाद औद्योगिक निवेश को प्रदेश में आकर्षित करने का इस तरह का इवेंट करने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य है। इवेंट में प्राप्त निवेश को चार वर्गों में विभाजित किया गया है। इन्वेस्टमेंट समिट हमेशा राज्य स्तर पर ही होते रहे हैं। यह पहला मौका है जब जिला स्तर पर इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। निवेश की चार श्रेणियां हैं, जैसे- एमओयु (मेमोरेंडम ऑफ़ अंडरस्टेंडिंग), एलओआई (लेटर ऑफ़ इंटेंट), शिलान्यास एवं उद्घाटन। राज्य में प्राप्त होने वाले निवेश के सभी एमओयु और एलओआई जिला स्तरीय इन्वेंट में ही संपन्न किये जा रहे हैं। उद्घाटन एवं शिलान्यास के कार्यक्रम इन्वेस्ट राजस्थान समिट आगामी 24-25 जनवरी 2022 जेईसीसी सीतापुरा जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की उपस्थिति में किए जाएंगे।