चित्तोडगढ़। शंभूपुरा थाना क्षेत्र के सावा रोड़ स्थित शनिमहाराज मंदिर के सामने एक झोपड़ी मे मिले शव के बाद हत्या की आशंका से पुलिस और क्षेत्र में हड़कंप मच गया, मौके पर शंभूपुरा पुलिस, भदेसर डिप्टी शिप्रा राजावत ओर उदयपुर से एफएसएल की टीम पहुची।
  मृतक के पुत्र राजू भील ने बताया कि मेरे पिताजी अकेले ही रहते है सुबह सिर्फ एक बार ही घर आते बाकी दिन भर पूजा पाठ में रहते थे शांत स्वभाव के थे, शनिमहाराज मंदिर के सामने झोंपड़ी बना रखी थी वही रह रहे थे रात को अचानक तबियत बिगड़ने से खून की उल्टी हुई और मौके पर ही मौत हो गई।
  थानाधिकारी रमेश चन्द्र कविया ने बताया कि सुबह सरपँच अजय चौधरी का कॉल आया तो मय जाब्ता मौके पर पहुंचे, जहा मांगीलाल पिता धुला भील (65) निवासी केसरपुरा की ग्रामीणों द्वारा हत्या की बात पर मौके पर उच्चाधिकारी को सूचना की डिप्टी भदेसर शिप्रा राजावत मौके पर पहुचे, उदयपुर से एफएसएल टीम भी पहुची जहा जांच में फुट पॉइजनिंग व अस्थमा का अटैक बताया गया, पुत्र की रिपोर्ट पर मर्ग दर्ज कर जिला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सोंपा।
  सरपँच अजय चौधरी ने बताया कि प्रथम दृष्टया हत्या का मामला लग रहा था, पुलिस व एफएसएल टीम की जांच में मामला साफ हुआ, जिससे ग्रामीण व परिजन भी सन्तुष्ट हो गए।
   इधर सरपँच अजय चौधरी, श्याम दास, श्यामलाल जाट, मांगीलाल जटिया, देवीलाल भील, किशन भील आदि सहित ग्रामीण मौके पर पहुचे।