डूंगला।जैन दिवाकरीय आगम मनस्वी  प्रवर्तक श्री विजय मुनि जी म.सा. उप प्रवर्तक युवा तपोविभूति श्री अरुण मुनि जी म.सा.सेवाभावी श्री सुरेश मुनि जी म.सा.प्रवचनकार उप प्रवर्तक श्री चन्द्रैश मुनि जी (उप प्रवर्तक बनने के बाद प्रथम बार अपनी जन्मभूमि में)सेवाभावी श्री तिलक मुनि जी म.सा.आदि ठाणा  5 का मंगल प्रवेश बुधवार को धर्म प्रेमियों के साथ हुआ। जैन दिवाकरीय साध्वी प्रमुखा , मेवाड सिंहनी उपप्रवर्तिनी महासती श्री शांताकुवंर जी म.सा., महासती मंगल प्रभा जी म.सा., महासती नयनप्रभा जी मसा, महासती जयश्री जी म.सा, महासती राजश्री जी म.सा, महासती समीक्षा जी म.सा आदि ठाणा  6 , महासती श्री विरक्ति श्री जी (वंदना जी) म.सा. ,महासती श्री भक्ति श्री जी म.सा. , महासती श्री संवेग श्री जी म.सा. आदि ठाणा 3  बिराजित हुए । जैन श्रावक संघ के मंत्री कनक मल दक ने बताया कि मुनि श्री डूंगला में नगर प्रवेश के लिए प्रातः 9:00 बजे कमल तीर्थ से रवाना हुए । साथ में धर्म प्रेमी बंधुओं का हुजूम ऐसा लग रहा है जैसे मेला लगा हो, अपने धर्म का जयकारा लगाते हुए सभी धर्म प्रेमी बंधु महाराज साहब श्री के साथ में चल रहे थे।  एलवा माता से लगाकर दिवाकर भवन तक मुनि श्री की अगवानी में रोड पर स्वागत के अवसर पर गेट लगाए गए। सवेरे 8:00 बजे से ही बड़ी सादड़ी रोड पर लोगों की रेलम पेल देखने को मिली।  आगे बहु मंडल कलश लेकर चल रही थी। बालिका मंडल जयकारा लगाते हुए मेन बाजार से गुजरते हुए दिवाकर भवन पहुंचे। रास्ते में सभी समुदाय के लोगों ने मुनि श्री का अभिवादन स्वीकार किया। और दर्शन लाभ लिए , दिवाकर भवन पहुंचकर मुनि श्री ने धर्म प्रेमी बंधुओं को मंगल पाठ सुनाएं एवं अलग-अलग वक्ताओं ने मुनि श्री के स्वागत में गीत गाए । अपने विचार व्यक्त किए। पोष दशमी को होने वाले तेला तप पालना महोत्सव के लाभार्थी एवं गोशाला मंत्री मांगीलाल जारोली ने स्वागत गीत गाकर मुनि श्री का एवं साध्वी मंडल का स्वागत सत्कार किया।