चित्तौड़गढ़। भारत रत्न संविधान निर्माता बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर का 64वाँ निर्वाण दिवस अंबेडकर प्रतिमा किला रोड चित्तौड़गढ़ पर श्रद्धा पूर्वक मनाया गया। अंबेडकर विचार मंच के सदस्य सामाजिक संगठन के प्रतिनिधि विभिन्न जातियों के जिलाध्यक्ष सहित जनप्रतिनिधि और समाज जन बहु संख्या में उपस्थित थे।
कार्यक्रम में भाग लेते हुए अंबेडकर प्रतिमा प्रातः 9 बजे श्रद्धा सुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई जिसमें संस्था के सदस्यों सहित सहायक निदेशक सब रजिस्ट्रार पीआर अमेरिया, उपसभापति नगर परिषद कैलाश पंवार, सहायक निदेशक एचपी कंवरिया, सुरेश कुमार रॉयल अभियोजन अधिकारी, संस्थापक संयोजक छगनलाल चावला, विचार मंच के जिलाध्यक्ष सुरेश खोईवाल, पूर्व रजिस्ट्रार राधेश्याम अमेरिया, अधिशाषी अभियन्ता अमरचंद चावला, पूर्व आबकारी अधिकारी नानूराम अमेरिया, प्राध्यापक निर्मल देसाई, गोवर्धन लाल बलिया, सिक्ख समाज के जिला अध्यक्ष सतपाल सिंह, अरावली संस्था के अध्यक्ष पूर्व इंजीनियर भगवत सिंह तोमर, निरंकारी संत भोले राम मल्होत्रा, एससी एसटी कर्मचारी महासंघ अध्यक्ष दिनेश सालवी, गोल्डमैन कानजी खटीक, अंबेडकर महोत्सव समिति के संयोजक कालूराम खटीक, हंसराज सालवी, रविंद्र बेरवा, रतन लाल सालवी, गणेश लाल खटीक, कमलेश अमेरिया, नवरत्न जीनगर, रणजीत लोट, पूरण मीणा, एससी एसटी ओबीसी अध्यक्ष कमल मीणा ने बाबा साहेब की मूर्ति पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। 
इस अवसर पर संस्था के संस्थापक संयोजक छगनलाल चावला ने बाबासाहेब के सिद्धांतों पर प्रकाश डालते हुए उनके जीवन से प्रेरणा लेने का आह्वान किया। अध्यक्ष सुरेश खोईवाल ने बाबा साहब के विचारों को आमजन तक पहुंचाने का संकल्प दिलाया। कालूराम खटीक ने शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए शिक्षा के महत्व को बताया। कर्मचारी महासंघ के जिला अध्यक्ष दिनेश सालवी ने संगठित रहो, संघर्ष करो, शिक्षित बनो के नारे को चरितार्थ करने पर जोर दिया। इस अवसर पर माधव सिंह मीणा, सोहन लाल नायक, नाथूलाल पुरबिया, अरुण धोबी, चुन्नी लाल बेरवा, प्रकाश खटीक, चंचल कुमार खटीक, दिनेश बोरीवाल, ग्यारसी लाल मेघवाल, पार्षद राम गोपाल लोहार, टिंकू धामानी, कुसुम लता मीणा, पॉन्टी मीणा, सहायक अधीक्षक ओमप्रकाश खोईवाल, एसबीआई ब्रांच मैनेजर मदनलाल डॉ रतन लाल सोलंकी, अशोक कुमार बेरवा, निधि बरवाड़ा, मदन ओजस्वी, प्रेमचंद सालवी, विजयलक्ष्मी खोईवाल आदि उपस्थित थे।