चित्तौड़गढ़। जिला कलेक्टर ताराचंद मीणा की अध्यक्षता में जिले में यूरिया उर्वरक की समुचित सप्लाई हेतु बैठक का आयोजन किया गया।
जिले में अक्टुबर 2021 से अब तक 32400 मेट्रिक टन यूरिया प्राप्त होकर वितरित हो चुका है। गत वर्ष अक्टुबर से जनवरी माह तक 32000 मेंट्रिक टन युरिया प्राप्त होकर वितरण हुआ था लेकिन इस वर्ष लगातार 3 मावठ होने से यूरिया की माँग एक साथ आ गई है। 
 
वर्तमान में चन्देरिया रेक पॉइन्ट पर इफको कम्पनी की रेक लगी हुई है। जिसमे जिले को लगभग 800 मेट्रिक टन यूरिया मिला जिसका वितरण किया जा रहा है। एनएफएल की रेक भी लग गई है जिसमें से जिले को 875 मेट्रिक टन यूरिया मिल रहा है जिसका वितरण करवाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त चम्बल फर्टिलाइजर्स से भी सडक मार्ग द्वारा 100 से 150 मेट्रिक टन यूरिया जिले को प्रतिदिन प्राप्त हो रहा है। जिले के कृषकों से आहवान है कि आवश्यकतानुसार ही यूरिया क्रय करे। आने वाले दिनो में भी जिले को यूरिया उर्वरक की कोई कमी न हो उस हेतु लगातार प्रयास किये जा रहे है।

 जिला कलक्टर ने बैठक में उपस्थित उप निदेशक कृषि (विस्तार) जिला परिषद्  शिवराज जांगिड़ एवं सहायक निदेशक कृषि (विस्तार) डॉ. एस. एल. जाट को निर्देशित किया कि यूरिया वितरण कृषि पर्यवेक्षकों की उपस्थिति में कराया जाना सूनिश्चित कराए, साथ ही रेक लगने पर योजना बना कर सभी जगह माँग अनुसार यूरिया भिजवाए। 
 
बैठक में इफको के सहायक क्षैत्रीय प्रबन्धक श्री बृजराज मीणा ने बताया कि इस वर्ष रबी सीजन में इफको द्वारा चित्तौडगढ़ जिले में कुल 4108 मेंट्रिक टन युरिया उपलब्ध कराया गया। जिसमें से सहकारी समितियों को 3760 मैट्रिक टन यूरिया उपलब्ध कराया गया एवं शेष 348 मेट्रिक टन इफको की निजी फ्रेन्चााइचीजी को उपलब्ध कराया गया। 

जिला कलक्टर ने इफको प्रतिनिधी श्री मीणा को निर्देशित किया की कृषि एवं प्रबन्ध निदेशक, चित्तौडगढ़ केन्द्रीय सहकारी बैंक के साथ मिल कर कार्य योजना बना कर ग्राम सेवा सहकारी समितियों के माध्यम वितरण कराने के निर्देश दिये साथ ही जिन सहकारी समितियों के पूर्व बकाया राशि है उनका विवरण प्रबन्ध निदेशक, चित्तौडगढ़ केन्द्रीय सहकारी बैंक को उपलब्ध कराने हेतु निर्देश दिये।