चित्तौड़गढ़ । मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार द्वारा लम्बित मांगों का निराकरण नहीं किये जाने पर महात्मा गांधी नरेगा तकनीकी कार्मिक संघ एवं ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज इंजीनियरिंग एसोसिएशन द्वारा 23 दिसम्बर को जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। 

जानकारी देते हुए इंजीनियरिंग तकनीकी संघ के अध्यक्ष हीरालाल आर्य ने बताया कि वर्ष 1997-98 से 2012-13 तक लगे हुए समस्त कनिष्ठ अभियन्ताओं का रेगुलर डीपीसी कर इन्हें सहायक अभियन्ता के पद पर नियमित करने की ग्रामीण ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज इंजीनियरिंग एसोसिएशन की मांग एवं कनिष्ठ तकनीकी सहायक की समान कार्य, समान परिलाभ एवं नियमितीकरण किये जाने की महात्मा गांधी नरेगा तकनीकी कार्मिक संघ की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को दिये ज्ञापन पर राज्य सरकार द्वारा निस्तारण नहीं किये जाने को लेकर दोनों ही संगठनों के संयुक्त तत्वावधान में बुधवार 23 दिसम्बर 2020 से कोविड गाईड लाईन की पालना करते हुए सहायक अभियन्ता हीरालाल आर्य, भरत व्यास, भवानीशंकर रेगर, मुकेश मीणा, सुरेश गिरी गोस्वामी, नरेगा संघ के कनिष्ठ तकनीकी सहायक मोहम्मद अजहर, योगेश अठवाल, संजीव कन्नौजिया, ओमप्रकाश भाम्बी, सुमेर विश्नोई, मथरा लाल मीणा, लक्ष्मीनारायण मीणा, राजमल जाट, चन्द्रप्रकाश धोबी, हनुमानसिंह, मुनिराम मीणा, अताएरसूल, इमरान आदि के नेतृत्व मंे जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन किया जाएगा।