चित्तौड़गढ़ 24 अक्टूबर। नवरात्र सप्तमी के दिन वात्सल्य संस्थान चित्तौड़गढ़ द्वारा चित्तौड़गढ़ नगर एवं आसपास के गांवों में 80 स्थानों पर लगभग 40 हजार लोगों को  काढ़ा वितरण का कार्य किया गया।

वृहत स्तर पर काढ़ा वितरण के लिए पिछले कई दिनों से की जा रही तैयारियों के फलस्वरूप शुक्रवार को चंदेरिया, धमाणा, बस्सी, पांडोली सहित विभिन्न स्थानों पर लगभग 40 हजार लोगों को काढ़ा पिलाया गया। वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्सक रमेश चंद्र जोशी, लव कुश पाराशर के निर्देशन में आयुर्वेद विभाग के सेवानिवृत्ति जिला आयुर्वेद अधिकारी वैद्य रमेचंद्र जोशी, आरोग्य भारती के प्रांत विकास प्रमुख कैलाश चंद्र शर्मा की देखरेख में कमलेश शर्मा, उर्मिला शर्मा, महावीर गांग, अमर लाल मीणा, रवि रेगर, शेखर शर्मा, पदमा सेठी  नितेश शर्मा, ताराचंद एवं अन्य कार्यकर्ताओं द्वारा रात्रि 2 बजे से निरंतर सायंकाल 7 बजे तक काढ़ा तैयार करा वितरित किया गया। संस्थान द्वारा पिछले 1 महीने से अनवरत रूप से कोरोना से बचने हेतु रोग प्रतिरोधक कार्य का वितरण किया जा रहा है। 

सरपंच विष्णु कुमार हेड़ा, उपसरपंच भगवानलाल जोशी, अंबालाल सुखवाल, सहायक सचिव कैलाश सेन, मंदिर के पुजारी देवीलाल पाराशर, लक्ष्मण गौड़, बालूराम गाड़री, निष्ठा नराणियां, आदित्य नराणियां, धु्रव भटनागर, जितेन्द्र सिंह, अविनाश शर्मा, मुरलीधर भट्ट का काढ़ा वितरण में सहयोग रहा।