महेन्द्र धाकड़ पत्रकार
सिक्खों के 10 वें गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती गुरुपूरब प्रकाश पर्व के अवसर पर सिक्ख समाज एवं टीम जीवनदाता के सहयोग से जिला ब्लड बैंक में जरूरतमंदों की सेवा के लिए  रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।
यह शिविर सिक्ख समाज के गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती पर आयोजित हुआ जहां 14 यूनिट रक्तदान किया गया पहला रक्तदान नारीशक्ति सिमरन कौर व क्रम के साथ अनमोल,जगदीप सिंह,हरमीत सिंह,नवनीत सिंह,मुदित मेनारिया,मनमीत सिंह,श्वेन्द्रपाल सिंह,जितेंद्र सिंह,भगवती लाल,पार्षद अविनाश शर्मा,पदम सिंह,सत्यनारायण शर्मा,राकेश धाकड़ द्वारा रक्तदान किया गया 
 इस अवसर पर सिक्ख रक्तदाताओं ने यह बताया कि लोगों में भ्रांतियां हैं कि रक्तदान से शरीर में रक्त की कमी हो जाती है जबकि रक्तदान से शरीर में कोई भी रक्त की कमी नहीं होती बल्कि व्यक्ति अपने आप नए रक्त का संचार होता है।
आज भी रक्त बैंक में रक्त की भारी कमी है इसे दूर करने के लिए हमें समय-समय पर रक्तदान करते रहना चाहिए रक्तदान एक जीवन है, और रक्त का कोई विकल्प बाजार में उपलब्ध नहीं है
वही गुरु गोबिंद सिंह के बारे में बताया कि गुरु गोविंद सिंह ने जीवन के अंतिम समय में भी सभी को मर्यादित तथा शुभ आचरण करने, देश से प्रेम करने और सदा दीन-दुखियों की सहायता करने की सीख दी। आज मानवता स्वार्थ, हिंसा, उग्रवाद जैसी जिन चुनौतियों से जूझ रही है, उनमें गुरु गोविंद सिंह का जीवन-दर्शन हमारा मार्गदर्शन कर सकता है।